Home / आलेख

आलेख

बिना लक्षण वाले दिल के दौरे बढ़ रहे हैं

डॉ. नवीन भामरी विभागाध्यक्ष और निदेशक  कार्डियोलॉजी, मैक्स सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल नई दिल्ली बिना लक्षण वाले दिल के दौरे को चिकित्सकीय शब्दावली में असिम्टोमैटिक हार्ट अटैक कहा जाता है और इसे भारत में सालाना हृदय रोगों और यहां तक कि समयपूर्व मौत के लगभग 45-50 प्रतिशत मामलों के लिए जिम्मेदार …

Read More »

और क्या-क्या करें एम.जे.अकबर

आर.के.सिन्हा एम.जे.अकबर ने “मीटू कैंपेन” में आरोप लगने के कारण केन्द्रीय मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया। राजनीतिक शुचिता की दृष्टि से यह कुछ हद तक जरूरी भी था। उनकी कुछ पूर्व महिला सहयोगियों ने उन पर यौन उत्पीड़न के आरोप लगाए थे। इस केस में दो बातें गौर करने लायक …

Read More »

दशहरा काण्ड के दोषियों को सख्त सजा मिलनी चाहिए

शकील सिद्दीकी अमृतसर में दशहरा ‘जानलेवा’ साबित हुआ। सारी खुश्यिां और उत्साह भारी गम में तब्दील हो गया। हादसे में करीब 61 मासूम लोग मारे गए और इससे ज्यादा घायल हुए। हादसे के बाद रेलवे ट्रैक पर आधा किलोमीटर तक लाशें बिखरी पड़ी थीं, इस नजारे के बारे में सोचकर …

Read More »

गरीबों के जीवन में उतरती रोशनी

-ललित गर्ग- क्राउडफंडिंग एक आधुनिक सौगात है, यह वह प्रक्रिया है, तकनीक है, चंदे का नया स्वरूप है जिसके अन्तर्गत जरूरतमन्द अपने इलाज, शिक्षा, व्यापार आदि कीे आर्थिक जरूरतों को पूरा कर सकता है। विदेशों में यह लगभग स्थापित हो चुकी है और भारत में इसका चलन तेजी से बढ़ …

Read More »

दीपावली पर आत्मा की ज्योति जगाएं

-आचार्य महाश्रमण- ज्योति पर्व दीपावली संकल्प का पर्व है और सबसे बड़ा संकल्प होना चाहिए मनुष्य स्वयं को बदलने के लिये तत्पर हो। सरल नहीं है मनुष्य को बदलना। बहुत कठिन है नैतिक मूल्यों का विकास। बहुत-बहुत कठिन है आध्यात्मिक चेतना का रूपांतरण। बहुत कठिन है अहिंसा की स्थापना। बहुत …

Read More »

राहुल गांधी गली-गली घूम रहे हैं…!

राहुल गांधी अब तो गली मोहल्लों में घूमकर कांग्रेस की उखड़ी  जमीन को फिर से जमाने पर गम्भीरता से तुले हैं, जिसके अच्छे परिणाम भी आने की कुछ उम्मीद दिखाई देती है। आम आवाम में कांग्रेस के गांधी, नेहरू, पटेल, कामराज आदि की छवि अभी भी बरकरार है। बीच में …

Read More »

मनु की पुत्री के नाम से बसा था इल्हावास ,अकबर ने किया इलहाबाद     

डा. महताब अमरोहवी  मनु की पुत्री  इला का नगर है इलावास उर्फ इलाहाबाद !  संसार में बेटी के नाम पर बसा लगभग अकेला नगर है इलावास, जिसका नाम अकबर ने कम बदला , आधुनिक अकबरों एवं उन  के साथियों ने पूरा बदल दिया। इलावास नाम इलाहाबाद नगर के लिए प्रयाग …

Read More »

हादसे-मुआवज़े-आरोप-प्रत्यारोप और मानव जीवन

तनवीर जाफरी बुराई पर अच्छाई की जीत का पवर्, विजयदशमी का जश्र मना रहे देशवासियों को एक बार फिर उस समय गहरा सदमा पहुंचा जबकि देश में चारों ओर से रावण दहन के समाचार आने के साथ-साथ अमृतसर के उस हादसे की दर्दनाक खबर सुनाई दी जिसमें कि रावण दहन …

Read More »

जातिवादी जड़ता की दीवारों का खड़ा होना

-ललित गर्ग- मध्यप्रदेश में जातिगत भेदभाव का एक और मामला सामने आया है। जबलपुर में एक डाॅक्टर के साथ जो हुआ, वह किसी भी विकासमान कहे जाने वाले समाज के सभ्य एवं सुसंस्कृत होने पर सवालिया निशान लगाता है। यह एक विभीषिका है। इस विभीषिका को कम करने के लिए …

Read More »

घूसखोरी में अव्वल होता भारत!

-ललित गर्ग- देश एवं समाज में रिश्वत देने वालों व्यक्तियों की संख्या बढ़ रही है, ऐसे व्यक्तियों की भी कमी हो रही है जो बेदाग चरित्र हों। विडम्बना तो यह है कि भ्रष्टाचार दूर होने के तमाम दावों के बीच भ्रष्टाचार बढ़ता ही जा रहा है। भ्रष्टाचार शिष्टाचार बन रहा …

Read More »